24 जुलाई 2011

10 चीजें अपने ब्लॉग से तुरंत निकालें

नीचे कुछ ऐसी चीजों की लिस्ट दी गयी है जो आपको तुरंत अपने ब्लॉग से निकाल देनी चाहिए, क्यूंकि इससे आपके पाठकों को पढने में तकलीफ होती है| हमेशा अपने पाठकों को ध्यान में रख कर ही ब्लॉग पर कोई विजेट अथवा इस जैसी कोई चीज लगानी चाहिए, ब्लॉग जगत में घूमते समय कुछ चीजों पर मेरी नजर पडी जो वहां नहीं होनी चाहिए थीं तो आपके समक्ष प्रस्तुत कर रहा हूँ, देखिये कहीं आपने भी तो इसमें से कुछ अपने ब्लॉग में नहीं लगा रखा है?

10 नंबर की चीज बहुत ज्यादा फर्क नहीं डालती और 1 नंबर की चीज बहुत फर्क डालती है

10. लेखकों की लिस्ट
कुछ ब्लॉग पर 100 तक लेखक हैं तो (पहली सलाह तो मैं यही दूंगा कि व्यर्थ में लोगों को ना जोड़ें, इस विषय पर मैं पहले बहुत कुछ लिख चूका हूँ) ऐसे में यदि आप उन सभी लेखकों को एक विजेट के जरिये यदि साइडबार में लगायेंगे तो बहुत जगह तो सिर्फ इसी में चली जायेगी, और वैसे भी कौन (पाठक) इस बात से मतलब रखता है कि कौन कौन इस मंच से जुड़ा हुआ है? पाठक को तो जो लेख मिला उसने पढ़ लिया और देख लिया कि किसने लिखा है, फिर भी यदि आप चाहते हैं कि सभी लेखकों की जानकारी आपके ब्लॉग पर रहे तो एक प्रष्ठ बना कर उस पर अपने सभी लेखकों का नाम उनके चित्र तथा पब्लिक प्रोफाइल के लिंक सहित प्रस्तुत करें :)

9. मौसम की जानकारी
ऐसी कोई भी विजेट जो मौसम की जानकारी देती है, क्या वो वाकई जरूरी है? सोचिये क्या मौसम की जानकारी लेने के लिए पाठक देना आपके ब्लॉग पर आएगा? खुद ही सोचिये, कविता कहानी के ब्लॉग पर मौसम की जानकारी देना हास्यास्पद नहीं है?

8. माउस का पीछा करने वाला फोटो
हालांकि अब यह अधिकतर ब्लॉग में नहीं मिलेगा पर यदि आपने लगा रखा है तो हटा दीजिये, अधिकतर पाठकों को यह अच्छा नहीं लगता है और यह पढ़ते समय काफी परेशान करता है

7. तारीख का विजेट
जी हाँ ऐसा कोई भी विजेट जो आज की तारीक या फिर समय पाठकों को बताता है उसको तुरंत निकाल दें, समय पता करने के कई तरीके हैं आपके पाठकों के पास वो कम्प्युटर से, मोबाइल से, घड़ी से अथवा किसी से पूछ कर टाइम पता कर सकते हैं, उसके लिए आपको अपने ब्लॉग की कीमती जगह को बर्बाद करने की आवश्यकता नहीं है

6. प्रिंट मीडिया में छपे हुए लेखों के चित्र
ठीक है कि प्रिंट मीडिया में छपे हुए लेख आपके लिए एक प्रकार की उपलब्धि है, पर वह ब्लॉग पर इधर-उधर बिखरे हुए अच्छे नहीं लगते, उसके लिए कुछ सुझाव मैं आपको देता हूँ, एक तरीका है कि किसी फोटो साइट पर अपने फोटो अपलोड कर दें जैसे कि picasa अथवा flikr पर तथा एक स्लाइड-शो के रूप में अपने ब्लॉग के साइड बार में लगा दें. दूसरा तरीका है प्रिंट मीडिया में प्रकाशित अपने सभी लेखों को एक नए लेख के रूप में अपने सभी पाठकों को बता दें तथा ब्लॉग पर एक पेज बनाकर उन सभी लेखों के लिंक दे दें और इस प्रष्ठ को नाम दें "मीडिया"

5. गैर जरूरी चित्र
कुछ लोग गैर जरूरी चित्र अपने ब्लॉग पर लगा लेते हैं, देखिये चित्र लगाना अच्छा है पर गैर जरूरी चित्र आँखों को चुभते हैं उदाहरण के लिए आप यह चित्र देखें-
इस तरह के चित्र वेबसाईट की शुरूआत में लगाए जाते थे, आज कल इस तरह के चित्रों को कूल टेक्स्ट नहीं कहते, तो यदि आपने भी ऐसा कुछ अपने ब्लॉग पर लगा रखा है, तो तुरंत हटा दें, अपने ब्लॉग के नाम के लिए साधारण टैक्स्ट का प्रयोग करें और यदि कोई चित्र लगाना ही चाहते हैं तो एक अच्छा सा लोगो बना कर लगाएं

4. मृत लिंक
ये क्या होता है? कई लोग इससे अनभिज्ञ होंगे, पर यह ब्लॉग की सेहत के लिए हानिकारक है, ऐसे लिंक जो कि आपके लेखों में या फिर आपके साइडबार में होते हैं पर सही रूप से कार्य नहीं करते, वो लिंक मृत लिंक कहलाते हैं, अपने साइड बार के लिंक तो चैक किये जा सकते हैं पर सैंकड़ों लेखों में बनाए गए लिंक को कैसे चैक कर सकते हैं? उसके लिए आप वर्ड-प्रेस में इस प्लग-इन का प्रयोग कर सकते हैं, अन्य लोग इस लिंक को प्रयोग कर सकते हैं

3. काउंटर 
यदि आपने अपने ब्लॉग पर ऐसा कोई काउंटर (गणना करने वाला) जैसे की फीडजिट विजेट इत्यादि लगाया है तो उसको तुरंत हटा दें, क्यूंकि इससे ज्यादा जगह बर्बाद चीज कोई नहीं है, पाठक को इससे क्या मतलब की आपके ब्लॉग को कितने लोग पढ़ते हैं? और किस देश से आपके ब्लॉग पर विजिटर आते हैं? हाँ, यह जरूर संभव है की आपके काउंटर में कम संख्या देख कर लोग यह कयास लगा लें की आपके ब्लॉग को ज्यादा लोग पढ़ते नहीं हैं, यदि आप आंकड़े देखना ही चाहते हैं तो अपने ब्लोगिंग प्लैटफॉर्म के द्वारा प्रदान की जा रही सुविधा का प्रयोग करें या फिर जोड़ें अपने ब्लॉग में गूगल एनालिटिक्स

2. पॉप-अप एड
ऐसे किसी भी पॉप-अप एड को निकाल दें जो आपके ब्लॉग के किसी लेख पर क्लिक करने पर अथवा आपके ब्लॉग पर पहुँचने पर खुल जाता है, साथ में ऐसे एड को भी निकाल दें जो कि आपके लेख के महत्वपूर्ण अक्षरों पर डबल क्लिक के रूप में दिखाई देता है, और माउस को उस पर ले जाते ही एक पॉप-अप खुल कर आ जाता है, जो पढने में असुविधाजनक होता है

1. गाने / म्यूजिक
यदि आपने अपने ब्लॉग पर ऐसे गाने डाल रखे हैं जो कि ब्लॉग खुलने के साथ ही बजने लगते हैं तो उनको तुरंत निकाल दीजिये, क्यूंकि एक ब्लॉग के लिए ऐसे गाने से ज्यादा घातक कोई अन्य चीज है ही नहीं, मुझे यदि ऐसे किसी भी ब्लॉग पर जाना होता है तो मुझे या तो अपने कम्प्युटर के साउंड को या तो म्यूट करना पड़ता है या फिर उस ब्लॉग पर जाने के तुरंत बाद ही उसको बंद करना पड़ता है, और यदि फिर भी यदि आप रखना चाहें तो कम से कम उसको डिफौल्ट रूप से पाउस ही रखें
  __           _
 /_    /\   / |   \
/__  /   \/   |_  /
     
कई ब्लोगर सिर्फ अपने बारे में सोचते हैं, जैसे कि,

१. मुझे पता चलना चाहिए पिछला व्यक्ति कौन आया था मेरे ब्लॉग में? फीडजिट विजेट
२. आज कितनी तारिख है? कलेंडर विजेट 
३. किस देश से कितने लोगों ने मेरे ब्लॉग पढ़े? फ्लैग काउंटर विजेट
४. मेरे ब्लॉग को आज कितने लोगों ने पढ़ा? ब्लोगर आंकड़े विजेट

और भी ना जाने क्या क्या..

यदि आप किसी ब्लॉग को विजिट करते हैं तो जो चीजें आपको उस ब्लॉग के बारे में खराब लगती हैं, उनको अपने ब्लॉग पर मत दोहराइए क्यूंकि हो सकता है कि लोगों को आपके ब्लॉग पर वह पसंद ना आये,

पाठकों की एक और समस्या के बारे में मैंने आपसे जिक्र किया था, जिसे आपने पसंद किया था पर अफ़सोस अभी भी कई ब्लोगर वह गलती दोहराते हैं, देखिये कहीं आप भी उन ब्लोगरों में से तो नहीं हैं?

27 टिप्‍पणियां:

  1. बढ़िया जानकारी और बढ़िया राय ... आभार !

    उत्तर देंहटाएं
  2. इनमें से नौ तो नहीं है मेरे ब्लाग पर लेकिन ब्लागर वाल आँकड़ा है। क्या किया जाए?

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत उपयोगी, हम पहले से हटाये बैठे हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  4. वाह काम की सलाह मिली फ़िर से एक बार , पुन: शुक्रिया

    उत्तर देंहटाएं
  5. सभी सुझाव उपयोगी है|आभार|
    way4host

    उत्तर देंहटाएं
  6. एक तो हमारे ब्लॉग पर भी है लाइव ट्राफिक वैसे यह दिल बहुत दुखता है | जब कोई आये और बिना टिपण्णी के चल जाए :)

    उत्तर देंहटाएं
  7. अच्छे और उपयोगी सुझाव हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  8. aap ka sajesan hai ya aapka aadesh yadi aap ka sajesan hai to mai aap ke vichar se sahmat hoon,
    aap ka aadesh se mai sahmat nahee hoon

    उत्तर देंहटाएं
  9. aapne bahut badiya jaankaari di blog main lagane waale gadgets ke baare main.thanks itani achchi jaankaari dene ke liye.badhaai aapko.

    उत्तर देंहटाएं
  10. बहुत ही उपयोगी!! जरा मेरा हाल चाल ले लीजिए और कोई कमी हो तो तुरन्त बताइये.. उस पर तुरन्त अमल किया जायेगा.

    उत्तर देंहटाएं
  11. बहुत अच्छा बताया। कृपया मेरे ब्लॉग को देखकर बताएं कि क्या यह (खासकर मोबाइल पर)इसलिए देर से खुलता है कि इसके दोनों ओर साईडबार में कई सारे लिंक बने हैं? ये लिंक ज़रूरी हैं,इसलिए कृपया कोई हल्का विकल्प हो तो बताएं।

    उत्तर देंहटाएं
  12. बढि़या जानकारी। मुझे सबसे ज्‍यादा दिक्‍कत माउस के साथ पूंछ की तरह लगे रहने वाल फोटो से होती है। उसके अलावा पाप अप और काउंटर इत्‍यादि भी दिक्‍कत करते हैं। इससे न केवल ब्‍लॉग पेज खुलने में दिक्‍कत होती हे, बल्कि पाठक दोबारा ब्‍लॉग पर आना नहीं चाहता। आपने उपयोगी जानकारी दी है। इसे फालो करके कोई भी अपने ब्‍लाग पर आने वाले ट्रैफिक को सुगम बना सकता है।

    उत्तर देंहटाएं
  13. बढ़िया जानकारी और बढ़िया राय ... आभार !

    उत्तर देंहटाएं
  14. मुझे सबसे ज्यादा परेशानी म्यूजिक बजाने वाले ब्लॉगों से होती है. जितनी बार जाओ या पेज लोड करो, म्यूजिक बजने लगता है. वो भी अपनी पसंद का नहीं (सामने वाले को थोड़े ही पता है कि इस समय मेरा मूड किस किस्म का संगीत सुनने का है?)

    उत्तर देंहटाएं
  15. आप सभी का बहुत बहुत शुक्रिया

    @चंदन कुमार मिश्र: हटा दीजिये, आपके आलावा किसको फर्क पड़ता है कौन आया था और कौन नहीं?
    @Sunil Kumar: हटा दीजिये, क्यूँ व्यर्थ में अपना दिल दुखाते हैं :)
    @Hamarametro: भैया मैं कौन होता हूँ आपको आदेश देने वाला, मन हो तो हटाओ नहीं मन हो तो मत हटाओ, मन्नू की फर्क पैंदा है
    शिक्षामित्र: मेरा लैपटॉप खराब होने की वजह से आजकल इंटरनेट पर बैठ नहि पा रहा हूँ, अतः आप से गुजारिश है की अपनी समस्या को ब्लॉग मंच पर प्रस्तुत करें, आपकी समस्या को हल करने का प्रयत्न किया जाएगा पता है : http://www.blogmanch.com/

    @Raviratlami: इसलिए तो म्यूजिक को एक नंबर पर रखा है :)

    उत्तर देंहटाएं
  16. गाने वाले ब्लाग कुछ लोग शुरु में बनाते हैं क्योंकि उन्हें इसमें बच्चों जैसा मजा आता होगा लेकिन रवि जी की तरह मुझे भी एकदम पसंद नहीं है ये म्यूजिकिया ब्लाग।

    उत्तर देंहटाएं
  17. राष्ट्र वंदना( देश भक्ति गीत)---

    वन्दे मातरम्
    सुजलां सुफलां मलयजशीतलाम्
    शस्यशामलां मातरम् ।
    शुभ्रज्योत्स्नापुलकितयामिनीं
    फुल्लकुसुमितद्रुमदलशोभिनीं
    सुहासिनीं सुमधुर भाषिणीं
    सुखदां वरदां मातरम् ।। १ ।। वन्दे मातरम् ।
    कोटि-कोटि-कण्ठ-कल-कल-निनाद-कराले
    कोटि-कोटि-भुजैर्धृत-खरकरवाले,
    अबला केन मा एत बले ।
    बहुबलधारिणीं नमामि तारिणीं
    रिपुदलवारिणीं मातरम् ।। २ ।। वन्दे मातरम् ।
    तुमि विद्या, तुमि धर्म
    तुमि हृदि, तुमि मर्म
    त्वं हि प्राणा: शरीरे
    बाहुते तुमि मा शक्ति,
    हृदये तुमि मा भक्ति,
    तोमारई प्रतिमा गडि
    मन्दिरे-मन्दिरे मातरम् ।। ३ ।। वन्दे मातरम् ।
    त्वं हि दुर्गा दशप्रहरणधारिणी
    कमला कमलदलविहारिणी
    वाणी विद्यादायिनी, नमामि त्वाम्
    नमामि कमलां अमलां अतुलां
    सुजलां सुफलां मातरम् ।। ४ ।। वन्दे मातरम् ।
    श्यामलां सरलां सुस्मितां भूषितां
    धरणीं भरणीं मातरम् ।। ५ ।। वन्दे मातरम्
    ================================
    जय जय भारत

    नमस्ते सदा वत्सले मात्रुभूमे
    त्वया हिन्दुभूमे सुखम वर्धितोऽहम
    महा मन्गले पुण्यभूमे त्वदर्थे
    पतत्वेष कायो नमस्ते नमस्ते

    प्रभो शक्तिमन हिन्दुराष्ट्रांग भूता
    इमे सादरं त्वां नमामो वयम
    त्वदीयाय कार्याय बद्धा कटीयम
    शुभामाशिषं देहि तत्पूर्तये

    अजय्यां च विश्वस्य देहीश शक्तिम
    सुशीलं जगद्येन नम्रं भवेत
    श्रुतं चैव यत कन्टकाकीर्ण मार्गम
    स्वयम स्वीक्रुतं न: सुगं कारयेत

    समुत्कर्श नि:श्रेयसस्यैकमुग्रम
    परम साधनं नाम वीरव्रतम
    तदन्त: स्फुरत्वक्षया ध्येयनिष्टा
    ह्रुदन्त: प्रजा गर्तुतीव्रानिशम

    विजेत्री च न: संहता कार्यशक्तिर
    विधायास्य धर्मस्य संरक्षणम
    परम वैभवं नेतुमेतत स्वराष्ट्रम
    समर्था भवत्वाशिषाते भ्रुशम
    ।। भारत माता की जय ।।

    उत्तर देंहटाएं
  18. विनायक जी,
    गुड मोर्निंग/ नमस्कार,
    आपके मार्गदर्शन/सलाह/निर्देशनुसार मेने अपने तीनो ब्लोग्स में यथा संभव परिवर्तन किये हे..आशा हे जी आपने देख भी लिए होंगे ..और आपको ठीक भी लगे होंगे/ पसंद भी आये होंगे..
    अब मेरी अगली समस्या हे मेरा ब्लॉग जो कि वर्डप्रेस पर बना हुआ हे..उस पर में लेख/पोस्ट तो ड़ाल देता हु किन्तु उसे सजाना (गेजेट्स/और भी अन्य फीचर्स का प्रयोग) नहीं कर पा रहा हु ..कोशिश भी की थी मगर कुछ समझ ही नहीं आया...
    एक और सुझाव भी जाहिए की में ब्लागस्पाट में एक तरफ ( दायीं/बायीं) कुछ विशेष जानकारिया/सूचनाओ का स्थान बनाना चाहता हु ..जेसे आने वाले ज्योतिष सम्मलेन या फिर इसी तरह की अन्य गतिविधि..तो यह केसे हो पायेगा??? प्लीज . हेल्प फॉर थिस..
    धन्यवाद..प्रतीक्षारत...
    आपको कल भी किया था मगर..!!!????
    आपका अपना...
    पंडित दयानन्द शास्त्री

    उत्तर देंहटाएं
  19. बहुत बढ़िया जानकारी मिली है...

    उत्तर देंहटाएं

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...