23 जुलाई 2011

ब्लोगिंग से कमाई!! मैं तैयार हूँ, आप?

आपको शायद ध्यान हो मैंने अपनी एक पोस्ट में सामूहिक ब्लोगिंग के लिए कुछ आइडिया आप लोगों को बताये थे, पर उन आइडिया को इम्प्लीमेंट करने के लिए मेरे पास समय की कमी थी, पर अब मैं तैयार हूँ कुछ बड़ा और बेहतर करने के लिए, मुझे चाहिए आप में से कुछ लोग (20 - 40)| मैं ब्लोगिंग को कमाई का जरिया बनाना चाहता हूँ और अकेले ना तो कमा सकता हूँ और ना ही कमाना चाहता हूँ :)

मित्रों आज तथा आने वाले कुछ दिनों तक पूरी तरह से कमाने की बात होगी, चर्चा का मुख्य विषय होगा ब्लॉग अथवा इसके जैसी विधाओं से कैसे कमाया जा सकता है? 

सीरीज से सम्बंधित कुछ ख़ास बातें:
  1. इस सीरीज में जो कुछ भी प्रकाशित होगा उसको एक पुस्तक के रूप में आपके समक्ष प्रस्तुत कर दिया जायेगा जिससे आप डाउनलोड कर सकें तथा ऑफलाइन होने पर भी पढ़ सकें,
  2. इस सीरीज में जो कुछ भी बताया जा रहा है उसको तब तक नहीं आजमायें जब तक की यह सीरीज पूरी नहीं हो जाती अन्यथा आप अपना नुकसान कर बैठेंगे,
  3. इस सीरीज के अंत में मैं आपको मेरे द्वारा प्रारंभ होने वाले कुछ प्रोजेक्टों के बारे में जानकारी दूंगा, जिसमें यदि आप चाहें तो भाग ले सकते हैं, जिसके जरिये आपके कमाने के मौके पहले के मुकाबले कई गुना बढ़ जायेंगे
  4. मेरे यह प्रोजेक्ट ख़ास तौर पर गृहणियों, बच्चों, रिटायर्ड व्यक्तियों तथा बेरोजगार युवकों के लिए होंगे
  5. मेरे इन प्रोजेक्ट की बारीक से बारीक जानकारी इन लेखों में दी जायेगी और यदि आप चाहें तो आप भी इन  प्रोजेक्ट को अपना सकते हैं, और इन आइडिया को इम्प्लीमेंट करने में मेरी मदद भी ले सकते हैं,
  6. इस सीरीज में जो भी बातें आपको बताईं जायेंगी वो मैंने एक दिन में नहीं सीखीं हैं, बहुत धीरे-धीरे कई चीजों पर नजर रख कर, कई पुस्तकें पढ़ कर तथा बहुत रुपये खर्च करके सीखीं हैं, उसके बाद भी इनमें कमी हो सकती है इसलिए मैं चाहता हूँ कि तकनीकी के जानकार लोग जैसे कि पाबला जी, शाहनबाज भाई, रवि रतलामी जी, रतन सिंह शेखाबत जी तथा आप, इन लेखों में मिलने वाली गलत बात को तर्क के साथ काटें तथा मुझे सही रास्ते से परिचित करवाएं
  7. इन लेखों के लिंक आप चाहे जहाँ दे सकते हैं, पर इन लेखों को की नक़ल अपनी किसी भी वेबसाईट अथवा ब्लॉग पर करना सख्त मना है 
प्रस्तुत है इस सीरीज का प्रथम लेख-

गूगल एडसेंस जिंदाबाद
पिछले 2 बर्षों से कमाने के मौके देने वाली साईट को देख-परख रहा था और कई वेबसाईट को जांचने के बाद मैं इस नतीजे पर पहुंचा हूँ की प्रारंभ में कमाई करने के लिए एडसेंस से बेहतर कुछ नहीं है, यह विचार मेरे दिमाग में बहुत पहले से थे पर मैं पहले यह देख लेना चाहता था की एडसेंस से ठीक-ठाक आय हो सकती है या नहीं और पैसे समय पर मिल जाते हैं या नहीं? और एडसेंस पर पूरा भरोसा होने के बाद अब वक्त है अपने विचार आपको बताने का और उनमे आपको शामिल करने का हालांकि मैं पूरी तरह गूगल एडसेंस पर निर्भर नहीं हूँ पर बाकी सभी रास्ते तब खुलते हैं जब हम कुछ बड़ा कर चुके होते हैं, प्रारंभ में गूगल ही मदद करता है

ढूंढिए मनुष्य की कमजोरी-
इसको कमजोरी ना कह कर यदि जरूरत कहा जाए तो ज्यादा उचित होगा क्यूंकि कोई भी व्यक्ति तभी रुपये खर्च करेगा जब उसको कुछ ना कुछ जरूरत होगी, याद रखिये कोई खर्च करेगा तभी तो आपको रूपया मिलेगा :) उदाहरण के लिए मनोरंजन एक बहुत बड़ा उद्योग है, मनोरंजन में फ़िल्में, गीत, गेम, फैशन शो और कभी कभी समाचार भी आ जाते हैं, ये वो चीजें हैं जिनकी तरफ व्यक्ति खुद आकर्षित होता है तथा इन पर रुपये खर्च करने के लिए तैयार रहता है, और मनोरंजन के बिषय में सबसे अच्छी तथा बड़ी बात यह है की हर किसी की जरूरत है

ठीक ऐसे ही पिछले कुछ बर्षों में शिक्षा एक बहुत बड़े उद्योग के रूप में उभर कर आया है, व्यक्ति अपने लिए कुछ सुख सुविधाएँ छोड़ देता है पर कोशिश करता है की अपने बच्चों को उचित शिक्षा दिलाई जाये, हालांकि मनोरंजन के मुकाबले इस क्षेत्र में आबादी की कमी है पर मनोरंजन के मुकाबले इस क्षेत्र में रुपये अच्छे मिलने की संभावना रहती है

अब उदाहरण लेता हूँ शौक का, शौक किसी भी चीज का हो सकता है उदाहरण के तौर पर मुझे कराटे, गिटार तथा पढने-पढ़ाने का बहुत शौक है, मैगजीन, कार्टून, कोमिक्स, नोबल, उपन्यास मेरे परम मित्र हैं किसी भी क्षण वो आपको मुझसे अलग नहीं दिखेंगे कहने का अर्थ है की पढने-पढ़ाने का मैं पागलपन की हद तक शौक़ीन हूँ, इस क्षेत्र में अच्छे रुपये मिलने की संभावना रहती है पर इसके लिए बिशेष मेहनत करनी पड़ती है क्यूंकि यदि कोई व्यक्ति दीवानगी की हद तक किसी चीज के प्रति पागल है तो वह बहुत कुछ पाने की कोशिश करेगा और आपको भी उसकी इच्छा पूरी करने के लिए दीवानगी की हद तक पागल होना चाहिए  

धैर्यवान
यह गुण नया नहीं है, यह हर क्षेत्र में कार्य करते समय होना चाहिए, ऑनलाइन कमाई करना भी ठीक वैसा ही है, बहुत धैर्य की आवश्यकता होती है तथा अन्य क्षेत्रों के मुकाबले यहाँ कुछ ज्यादा ही धैर्य रखना पड़ता है, पर जैसा की आप जानते हैं की धैर्य का फल मीठा होता है, इस क्षेत्र में भी ठीक वैसा ही है सिर्फ अंतर इतना है की बाकी क्षेत्रों के मुकाबले यहाँ कुछ ज्यादा ही मीठा होता है, यानि की यहाँ रुपये कमाने की संभावना सामान्य से ज्यादा होती है
 
ऑनलाइन कमाने के लिए कुछ शर्तें-

पहली शर्त: सिर्फ एक ही चीज पर अपना पूरा ध्यान लगा दीजिये (मैंने देखा है यहाँ ब्लॉगजगत में कुछ लोग सब कुछ करने की कोशिश करते हैं और कुछ भी नहीं कर पाते) मैं यहाँ पर तीसरा खम्बा का उदाहरण देना पसंद करूंगा तीसरा खम्भा एक ऐसा ब्लॉग है जो सिर्फ और सिर्फ एक ही बिषय पर केन्द्रित है,

दूसरी शर्त: आपके द्वारा प्रदान की जा रही सुविधा या जानकारी किसी ना किसी के काम की होनी चाहिए, यहाँ पर मैं माफी चाहूँगा पर कविता तथा कहानी वाले ब्लॉग किसी के काम के नहीं होते, असल में कविता तथा कहानी लोगों की मजबूरी नहीं होते, और बहुत साफ़ शब्दों में कहूं तो कविता तथा कहानी के ब्लॉग से कमाई करने के बारे में सोचना अपना समय बर्बाद करना है (यदि आपका ब्लॉग कहानी तथा कविता का है तो निराश ना हों, मैं अपने एक लेख में सिर्फ कविता तथा कहानी के ब्लॉग से कैसे कमाया जाये बिषय पर ही चर्चा करूंगा)

तीसरी शर्त: कुछ अलग सोचने की क्षमता, कारण बहुत आसान है ये बातें जो मैं आपको इस लेख में बता रहा हूँ वो आपको क्या लगता है, लोगों को पता नहीं होंगी? हा हा हा !! लोगों को पता है और लोग भी यही करेंगे जो आपको मैं बता रहा हूँ, असल में करते ही हैं फिर आप कहाँ टिकेंगे? इसलिए क्या आप कुछ अलग सोचने की क्षमता रखते हैं?

चौथी शर्त: सोचिये की आपके पाठक क्या चाहते हैं, ना की ये की आपके हिसाब से क्या सही है!! एक उदाहरण लूँगा मेरे एक मित्र सिर्फ इसलिए अपनी एम.टेक की पढाई उत्तीर्ण नहीं कर पाए क्यूंकि वो सिर्फ वह प्रस्तुत करते थे जो उनको अच्छा लगता था, जो चीज उनको अच्छी नहीं लगी उसको वह प्रस्तुत नहीं करते थे, क्यूँ भाई? अरे यार तुमको पास कौन करेगा? अध्यापक, तो उनको आप वो क्यूँ दे रहे हो जो आप देना चाहते हो? वो दो ना यार जो उनको अच्छा लगता है बहुत सीधा सा हिसाब है यहाँ अधिकतर ब्लोगर ब्लोगिंग के वीडिओ चाहते हैं और मैं यदि आपको सी प्रोग्रामिंग के वीडिओ देने लगूं तो? आप लोगे? नहीं ना तो बस ऐसे ही वो प्रस्तुत करो जो लोग चाहते हैं ना की वो जो आप चाहते हैं

पांचवीं तथा अंतिम शर्त: तकनीकी की पूरी जानकारी, पूरी जानकारी यदि आपको ना भी हो तो भी चलेगा क्यूंकि मैं आपकी पूरी मदद करने वाला हूँ इस मामले में मेरी इस पूरी सीरीज में आपको आपके हर सवाल, क्या करना चाहिए क्या नहीं करना चाहिए, कैसे पता लगायें की सामने वाला क्या चाहता है तथा ऐसी विधाओं से कैसे कमायें जिसमें लोग बिल्कुल भी रुपये खर्च नहीं करना चाहते, इत्यादि विषय पर बहुत विस्तृत वर्णन करूंगा, कहने का अर्थ यह है की इस पूरी सीरीज के समाप्त होने पर आपको तकनीकी की जानकारी में कुछ भी बचेगा नहीं

बिशेष:
  • इस सीरीज के लेख मेरे इस ब्लॉग पर हर शनिवार, सोमवार तथा बुधवार को सुबह आठ बजे प्रकाशित होंगे अतः समय का ध्यान रखें,
  • यदि आप एक बेरोजगार युवक हैं तो इन लेखों पर ख़ास निगाह रखें सिर्फ इतना ध्यान रखें कि पहला ध्यान एक अच्छे कैरियर पर होना चाहिए,
  • आपके सुझाव का स्वागत है, निंदकों का ख़ास तौर पर क्यूंकि मैं चाहता हूँ कि यह सीरीज ज्यादा से ज्यादा विस्तृत हो 
 अभी करें-
  • यदि आप फिल्मों तथा फ़िल्मी-गीतों के शौक़ीन हैं और आप मेरे इस प्रोजेक्ट में शामिल होना चाहते हैं तो मुझे संपर्क करें मेरे मोबाइल नंबर 9022419053 पर, 
  • यदि आप अध्यापक हैं अथवा पढने पढ़ाने में रूचि रखते हैं तथा हाई-स्कूल / इंटरमीडिएट के विद्यार्थियों को पढ़ाने की क्षमता रखते हैं तथा मेरे प्रोजेक्ट में शामिल होना चाहते हैं तो मुझे संपर्क करें मेरे मोबाइल नंबर 9022419053 पर,
  • यदि आपके दिमाग में बहुत दिनों से कोई आइडिया कुलबुला रहा है पर आप उसको कैसे इम्प्लीमेंट करें यह तय नहीं कर पा रहे हैं तो मुझे अपनी पूरी समस्या डिटेल के साथ मेल कीजिये मेरे ई-मेल एड्रेस (yogendra.pal3@gmail.com) पर, आपकी पूरी जानकारी गुप्त रखी जायेगी

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...